प्रमुख रोग एवं बचाव के टिके

प्रमुख रोग एवं बचाव के टिके

प्रमुख रोग एवं बचाव के टिके । बीमारी का मतलब है अस्वस्थ होना। यह चिकित्सा विज्ञान की मूलभूत अवधारणा है। अक्सर, शरीर के कामकाज में किसी भी कमी को ‘बीमारी’ कहा जाता है। जिस व्यक्ति को कोई बीमारी होती है, उसे ‘रोगी’ कहा जाता है। हिंदी में ‘रोग’ को ‘रोग’, ‘रोग’, ‘रोग’ भी कहा जाता है।

चिकित्सा और औषधि विज्ञान का उपयोग लक्षणों के उपचार या राहत देने के लिए किया जाता है। “विकासात्मक विकलांगता” शब्द का उपयोग मानसिक और शारीरिक विकलांगता के कारण होने वाली गंभीर आजीवन विकलांगता का वर्णन करने के लिए किया जाता है।

रोगटिके
टी.बी., तपेदिकबी.सी.जी. (BCG)
डिप्थीरिया, टिटेनसडी.पी.टी. (DPT)
काली खाँसी डी.पी.टी. (DPT)
मम्प्स, खसरामम्प्स वैक्सीन (MMR)
पोलियोपोलियो टीका
टाइफाइडटी.ए.बी. (TAB)
छोटी मातारूबेला वैक्सीन
जर्मन खसरारूबेला वैक्सीन

काँच के प्रकार एवं उनके उपयोग

फ्लिन्ट काँचकैमरा, दूरबीन, लेंस में
पाइरेक्स काँचप्रयोगशाला के उपकरण में
सोडा काँचट्यूब लाइट, बोतलों में
क्राउन काँचविद्युत बल्ब बनाने में
क्रुक्स काँचधुप चश्मा के लेंस में
पोटाश काँचकाँच के बर्तन बनाने में
मृदु काँचपरखनली बनाने में

पशुओं के गर्भ अवधि काल

पशुगर्भकाल
हाथी624 दिन
घोड़ा330 दिन
बाघ155 दिन
कुत्ता63 दिन
भैंस300 दिन
ऊँट400 दिन
गाय284 दिन
बकरी151 दिन
सूअर114 दिन
गदहा365 दिन

दो रंगों के मिश्रण से बने रंग

लाल + नीला = मैंजेन्टा
लाल + हरा = पिला
हरा + नीला = पीकॉक नीला
लाल + पीकॉक नीला = सफेद
हरा + मैंजेटा = सफेद
नीला + पिला = सफेद
लाल + हरा + नीला = सफेद

सरकार ने पेंशन नियमों में बदलाव

प्रमुख प्राणियों के जीवन काल

प्राणीजीवन काल
हाथी47 वर्ष
घोड़ा27 वर्ष
बाघ19 वर्ष
कुत्ता16 वर्ष
भैंस20 वर्ष
ऊँट20 वर्ष
गाय18 वर्ष
बकरी17 वर्ष
सूअर14 वर्ष
बिल्ली15 वर्ष

गवर्नर जनरल एवं उनकी नीतियाँ

वारेन हेस्टिंग्स1772बंगाल में द्वैध शासन का अंत
लार्ड कार्नवालिस1793स्थायी बन्दोवस्त
लार्ड वेलेजली1798सहायक संधि
लार्ड डलहौजी1856राज्य हड़प नीति
लार्ड रिपन1882स्थानीय स्वशासन
लार्ड कर्जन1905बंगाल विभाजन
विलियम बेटिंक1829सती प्रथा पर रोक
लार्ड डफरिन1885कांग्रेस की स्थापना

महान भौतिक शास्त्री एवं संबंधित देश

27 thoughts on “प्रमुख रोग एवं बचाव के टिके

  1. I’m very pleased to find this website. I want to to thank you for ones time just for this fantastic read!! I definitely liked every bit of it and i also have you book marked to look at new information on your blog.

  2. This is the perfect webpage for anybody who wishes to understand this topic. You realize so much its almost hard to argue with you (not that I really would want toÖHaHa). You definitely put a new spin on a topic which has been discussed for many years. Wonderful stuff, just excellent!

  3. Hi there! I could have sworn Iíve been to this web site before but after looking at many of the articles I realized itís new to me. Regardless, Iím definitely pleased I found it and Iíll be bookmarking it and checking back regularly!

  4. You are so cool! I do not think I’ve read through anything like this before. So wonderful to find somebody with genuine thoughts on this subject. Seriously.. thank you for starting this up. This website is something that is required on the web, someone with a little originality!

  5. Can I simply just say what a comfort to discover a person that actually understands what they’re talking about over the internet. You definitely realize how to bring an issue to light and make it important. A lot more people ought to look at this and understand this side of your story. I can’t believe you’re not more popular since you certainly possess the gift.

  6. After I initially left a comment I seem to have clicked the -Notify me when new comments are added- checkbox and now every time a comment is added I get four emails with the exact same comment. There has to be a means you can remove me from that service? Thanks!

  7. May I just say what a relief to uncover an individual who actually knows what they’re talking about on the internet. You actually realize how to bring a problem to light and make it important. More people have to look at this and understand this side of the story. I can’t believe you aren’t more popular because you most certainly possess the gift.

  8. Aw, this was a very nice post. Spending some time and actual effort to produce a really good articleÖ but what can I sayÖ I hesitate a whole lot and never seem to get nearly anything done.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *