Previous Question Paper for CTET & TET

Previous Question Paper for CTET & TET

राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रुपरेखा (NFC 2005)

Previous Question Paper for CTET & TET

1. राष्ट्रीय पाठ्यचर्य की रुपरेखा-2005 के पाठ्यचर्य निर्माण के निर्देशक सिद्धान्तों के बारे में निम्नलिखित में कौन-सा/से कथन सत्य है ?
(a) परीक्षा को अपेक्षाकृत अधिक लचीला बनाना और कक्षा की गतिविधियों से जोड़ना
(b) यह सुनिश्चित करना की पढ़ाई रटन्त प्रणाली पर आधारित न हो, बल्कि समझ आधारित हो
(c) पाठ्यचर्य का विकास इस प्रकार हो कि बालकों को सर्वागीण विकास का अवसर उपलब्ध करवाए
(d) उपरोक्त सभी

2. किस रूप से बच्चे हमेशा विधालय के भौतिक वातावरण से निरन्तर अन्त:क्रिया करते है ?
 (a) चेतन रूप से
(b) अचेतन रूप से
(c) 1 और 2 दोनों
(d) न तो 1 और न ही 2

3. हमारी शिक्षा आज भी सीमित ‘पाठ योजना’ पर आधारित है, जिसका लक्ष्य हमेशा ……….को हासिल करना होता है ।
(a) परिमेय आचरणों
(b) अपरिमेय आचरणों
(c) परिणामों
(d) गतिविधियों

4. एन. सी. एफ. 2005 की संस्तुतियो के अनुसार, कक्षा I एवं कक्षा II के विधार्थियों के लिए मूल्यांकन का तरीका होना चाहिए
(a) प्रेक्षण के आधार पर
(b) लिखित एवं मौखिक परिक्षण के आधार पर
(c) मौखिक परिक्षण के आधार पर
(d) लिखित परिक्षण के आधार पर

5. राष्ट्रीय पाठ्यचर्य की रुपरेखा-2005 किस सूझ के आधार पर पाठ्यचर्य के बोझ को कम करने पर बल देती है ?
(a) शिक्षा, बोझ के साथ
(b) शिक्षा, बिना बोझ के
(c) शिक्षा, पर्यावरण के साथ
(d) शिक्षा, पर्यावरण के बिना

6. शिक्षा के क्षेत्र में ‘पाठ्यचर्य’ शब्दवाली ………….की ओर संकेत करती है ।
(CTET June 2011)
(a) शिक्षण-पद्धति एवं पढ़ाई जाने वाली विषय-वस्तु
(b) विद्यालय का सम्पूर्ण कार्यक्रम, जिसमें विधार्थी प्रतिदिन अनुभव प्राप्त करते है
(c) मूल्यांकन-प्रक्रिया
(d) कक्षा में प्रयुक्त की जाने वाली पाठ्य-सामग्री

7. राष्ट्रीय पाठ्यचर्य की रुपरेखा-2005 के आधारभूत सिद्धान्तों में, निम्न में सी कौन-सा भाग सम्मिलित नहीं है ?
(UTET Jan 2011)
(a) अच्छी बाह्य परीक्षाओं का आयोजन करना
(b) रटने को महत्व प्रदान न करना
(c) पुस्तकों से इतर ज्ञान प्राप्त करना
(d) ज्ञान को वास्तविक जीवन से जोड़ना

8. राष्ट्रीय पाठ्यचर्य-2005 में ‘गुणवता आयाम’ शीर्षक के अंतर्गत अधिक महत्व दिया गया है
(RTET July 2011)
(a) भौतिक संसाधनों को
(b) शिक्षित एवं अभिप्रेरित अध्यापकों को
(c) बालकों के लिए ज्ञान के सन्दर्भ में संरचित अनुभवों को
(d) बालकों के लिए संरचित अनुभव एवं पाठ्यक्रम सुधार को

9. राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रुपरेखा-2005 में शांति शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए क्रियाओं की अनुशंसा की गई है । पाठ्यक्रम रुपरेखा में निम्न में से किसे सूचीबद्ध किया गया है ?
(RTET July 2011)
(a) महिलाओं के प्रति आदर एवं जिम्मेदारी का दृष्टिकोण विकसित करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाएँ
(b) नैतिक शिक्षा को बढ़ाया जाए
(c) शांति शिक्षा को एक अलग विषय के रूप में पढ़ाया जाए
(d) शांति शिक्षा को पाठ्यक्रम में सम्मिलित किया जाए

10. राष्ट्रीय पाठ्यचर्य की रुपरेखा-2005 में बातचीत की गई है
(RTET July 2011)
(a) ज्ञान स्थायी है व दिया जाता है –से ज्ञान का विकास होता हो और इसकी संरचना की जाती है
(b) शैक्षिक केन्द्र से विषय केन्द्र होने पर
(c) विधार्थी केन्द्रित से अध्यापक केन्द्रित की ओर
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं

11. राष्ट्रीय पाठ्यचर्य की रुपरेखा-2005 के अंतर्गत ‘परीक्षा सुधारो’ में निम्न में से किस सुधर को सुझाया गया है ?
(RTET July 2011)
(a) खुली पुस्तक परीक्षा
(b) सत्तत/निरन्तर एवं व्यापक मूल्यांकन
(c) सामूहिक कार्य मूल्यांकन
(d) उपरोक्त सभी

12. NCTE का पूर्ण रूप क्या है ?
(BTET April 2011)
(a) National Council of Technical Education
(b) National Curriculum for Technical Education
(c) National council of Teacher Education
(d) National Curriculum for Teacher Education

13. इनमें से कौन पाठ्यचर्य 2005 का मार्गदर्शी सिद्धान्त नहीं है ?
(CGTET July 2011)
(a) ज्ञान को स्कूल के बाहरी जीवन से जोड़ना
(b) पढ़ाई को रटन्त प्रणाली से मुक्त कराना
(c) अंग्रेजी भाषा में शिक्षा देना
(d) बच्चों को चहुमुखी विकास के अवसर उपलब्ध कराना

14. राष्ट्रीय पाठ्यचर्य की रुपरेखा-2005 दस्तावेज में भाषा के लिए निहित है
(CGTET July 2011)
(a) एक भाषा
(b) द्वि भाषा
(c) तीन भाषा
(d) बहु भाषा

15. विद्यालय – आधारित आकलन प्रारम्भ किया गया था ताकि
(CTET Feb 2014)
(a) राष्ट्र में विद्यालयी शिक्षा संगठनों की शक्ति का विकेन्द्रीकरण किया जा सके
(b) सभी विधार्थियों के सम्पूर्ण विकास को निश्चित किया जा सके
(c) विधार्थियों की उन्नति की बेहतर व्याख्या के लिए उनकी सभी गतिविधियों के नियमित अभिलेखन हेतु अध्यापकों को अभिप्रेरित किया जा साके
(d) विद्यालय अपने क्षेत्रो में विद्यमान अन्य विभिन्न विद्यालयों की तुलना में प्रतियोगता द्वारा अपनी विशिष्टता का प्रदर्शन करने हेतु अभिप्रेरित को सकें

16. एन. सी. एफ-2005 के अनुसार, गलतियाँ इस कारण महत्वपूर्ण होती है
(CTET Feb 2015)
(a) यह विद्यार्थियों को ‘उतीर्ण’ एवं ‘अनुतीर्ण समूह में वर्गीकृत करने के लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण है ।’
(b) यह अध्यापकों को बच्चों को डाँटने के लिए एक तरीका उपलब्ध कराती है
(c) यह बच्चे के विचार को अंतर्दृष्टि उपलब्ध कराती है तथा समाधानों को पचानाने में सहायता करती है
(d) यह कक्षा में कुछ बच्चों को हटाने के लिए आधा स्थान उपलब्ध कराती है

17. “पाठ्यचर्य ऐसी हो, जो पाठ्य-पुस्तक के ज्ञान को पुन: प्रस्तुत करने के स्थान पर बच्चों को अपनी आवाजे पाने, कार्य करने के लिए अपनी जिज्ञासा का पोषण  करने, प्रश्न पूछने और जाँच-पड़ताल करने तथा अपने अनुभवों को बाँटने तथा विद्यालय के ज्ञान के साथ जोड़ने में सक्षम बनाए ।”
    
     रास्ट्रीय पाठ्यचर्य की रुपरेखा, 2005 , इस पृष्ठभूमि में, एक शिक्षक की प्राथमिक भूमिका क्या होनी चाहिए ?
(CTET Sept 2015)
(a) बच्चों को उनकी समझ और अपने ज्ञान को साझा करने के पार्यप्त अवसर देना
(b) बच्चों के अनुभवों को निरस्त कर पाठ्य-पुस्तकों पर ध्यान केन्द्रित करना
(c) पाठ्य-पुस्तक के अध्यायों को क्रमवार पूरा कराना
(d) यह सुनिश्चित करना कि शिक्षिका अच्छे प्रश्न पूछे और शिक्षार्थी अपनी उतर पुस्तिका में उतर लिखें

18. शिक्षक की साबसे मुख्य जिम्मेदारी है
(UTET April 2015)
(a) कठोर अनुशासन बनाए रखना
(b) विद्यार्थियों को विभिन्न अधिगम शैलियों के अनुसार सीखने के मौके उपलब्ध कराना
(c) पाठ-योजना  तैयार करना और उसके अनुसर पढ़ाना
(d) यथासम्भव क्रिया-कलापों का आयोजन करना

19. राष्ट्रीय पाठ्यचर्य की रुपरेखा-2005 के अनुसार अधिगम अपने स्वभव में ……….और ……..है ।
(CTET Sept 2016)
(a) निष्क्रिय, सरल
(b) सक्रिय, सामाजिक
(c) निष्क्रिय, सामाजिक
(d) सक्रिय, सरल

20. बल्केन्द्रित शिक्षा-शास्त्र का अर्थ है
(CTET Sept 2016)
(a) बच्चों के अनुभवों और उनकी आवाज को प्रमुखता देना ।
(b) शिक्षक द्वारा बच्चों को आदेश देना की क्या किया जाना चाहिए ।
(c) निर्धारित सुचन का अनुसरण करने में बच्चों को सक्षम बनाना ।
(d) कक्षा में सारी बाते सिखने के लिए शिक्षक का आगे-आगे होना ।

21. राष्ट्रीय पाठ्यचर्य की रुपरेखा -2005 के अनुसार शिक्षक की भूमिका है
(CTET Sept 2016)
(a) अधिनाकीय
(b) अनुमतिपरक
(c) सुविधादाता
(d) सतावादी

22. एन. सी. एफ- 2005 के सम्बन्ध में निम्न में से कौन-सा कथन सही है ?
(UPTET April 2016)
(a) यह भारत की विद्यालय शिक्षा के सम्बन्ध में एक संवैधानिक संशोधन है
(b) यह एन. सी. ई. आर. टी. द्वारा तैयार किया गया दस्तावेज है, जो भारत की विद्यालय शिक्षा के सम्बन्ध में संस्तुतियाँ प्रस्तुत करता है
(c) यह बहरत में गुणात्मक शिक्षा के सम्बन्ध में यूनेस्को और भारत द्वारा हास्ताक्षारित दस्तावेज है
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं

48 thoughts on “Previous Question Paper for CTET & TET

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *